Monthly Archives: October 2016

Superstition

Its deepawali in India ,according to records around this festival ,large number of owls are captured ,killed ,as their eyes ,claws are sold ,its believed that Lakshmi comes on owl so keeping owl’s body parts will attract Lakshmi ,its such stupid superstition widely practised in north India ,causing loss to nature and ecosystem .I don’t know if Lakshmi exists but its sure that all who do this are definitely inferior than owls.

कैसा

गई दीपावली,  छोड़ गई धुएँ का गुबार
यह कैसा है त्योहार
अस्थमा, त्वचा रोग से करे लोगों को बीमार
यह कैसा है त्योहार
सड़कों पर लगा कूड़े का अंबार
यह कैसा है त्योहार
जीव जंतु, पक्षी छिपे पड़े लाचार
यह कैसा है त्योहार
नकली सिक्के बेच ,नोट छाप रहा सुनार
यह कैसा है त्योहार
मिठाई बिक गई जितनी भी पड़ी थी हलवाई के पास बेकार
यह कैसा है त्योहार
डिब्बे खुले बिना ही बदले जा रहे द्वार
यह कैसा है त्योहार
बिना पढ़े ही मैसेज भेज कर ,लगा दी फोन में कतार
यह कैसा है त्योहार
पैसे की बर्बादी बेशुमार
यह कैसा है त्योहार
दिखावा जबर्दस्त, गायब प्यार
यह कैसा है त्योहार
जो जितना बड़ा चापलूस ,दे उतना बड़ा उपहार
यह कैसा है त्योहार
खूब बिकी चीनी लड़ियां, भूखा मरे कुम्हार
यह कैसा है त्योहार।

दीपावली

मुझे राम मिला बड़ा हैरान सा
दुखी परेशान सा
खड़ा था अकेला
समझ नहीं आया झमेला
मैने, कहा भाई सुना है आज ही के दिन तुम वनवास से लौट कर अयोध्या आए थे
लोगों ने खुशी में दीपक जलाए थे
कहने लगा वो युग था त्रेता
अब तो मेरी सुध कोई नहीं लेता
हर घर में है लक्ष्मी का बोल बाला
मेरे जीवन में छाया अंधकार काला
कोई मुझे अपने घर नहीं बुलाता
कोई मेरे आने की खुशी नहीं मनाता
कोई मुझे पकवान नहीं खिलाता
लक्ष्मी मेरे चरणों में थी रहती
आज लोगों के खून में है बहती
अंधा किया इसने जग सारा
मुझसे किया जग ने किनारा
यह देख बह आयी मेरी अश्रु धारा
मैनें कहा आ चल मेरे साथ
ले आया मैं पकड़ कर उसका हाथ
मैंने कहा न हो तूँ उदास
जब तक चाहे रह मेरे पास
मैंने कहा खा लियो जो मैं खाऊँगा
खुद से पहले तुझे खिलाऊंगा
तेरे बिना लक्ष्मी मुझे नंही स्वीकार
भले बुरा लगे लक्ष्मी को मेरा व्यवहार
इच्छा उसकी रहे या जाए
राम के बिना कैसे दीपावली मनायें
लक्ष्मी के चक्कर में राम को न भुलाये
राम सनातन है, लक्ष्मी आए जाए
लक्ष्मी के बिना भी हैं राम, राम बिना लक्ष्मी का नहीं अस्तिव
राम को जीवन में उतारना है हर जीव का दायित्व
लक्ष्मी के पीछे न बौरायें
राम तत्व जीवन में अपनाये
दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं ।

Stupidity

Drama about racism
Gender biased
Apartheid
You tell me calling a black ,black
Its wrong ? Why ?
He is black ,its his race
Should be proud of it
Tell me one guy
Who doesn’t hate dirt ,filth
How can we hug a guy who is dirty
No work is inferior
But few works are filthy
Cleaning gutters is not a tidy job
We can’t sit and eat with a gutter cleaner
Female is a female
She has breasts
What is wrong about it
Males do have natural attraction towards it
No one can deny it
One shouldn’t be ashamed of
His race ,colour or gender
Similarly shouldn’t be arrogant
Of his race ,colour or gender .

Festivals

They come for a day or week
They leave you with tiredness ,depression
They leave you economically poor
They are actually created
By smart business houses
To sell their fake ,obsolete articles
To fool people
Surprisingly we have millions of fools
Who purchase ,even what they don’t need
Because its portrayed discounted
Which actually is not .

Warning

Dear god !
Behave or I will kick you
Its been long time
You are interfering in my life
Creating nonsense
I always ignored it
Taking you as my friend
But now I feel you are going beyond limit
If I can treat you well
I have right to slap you too
If you can’t do good
No problem
Don’t do bad
I will face my karmas bravely

Strange

Trump ! A bad guy ?
God knows
But the no. Of females
Coming out ,blaming
He groped them
He screwed them
He kissed them
He passed lewd remarks
Where were these females earlier
In USA ,I don’t think
Law and order is so poor
That a female can’t complain
Its not UAE
All these years ,why were they silent
They are not illiterate
Nor are they dumb
Its nothing but dirty politics
I guess all these females are lying
Otherwise its strange
So many females molested
No complaints .

Where

We have love making
But no love
We have sleazy movies
Lots of pornography
Naked bodies
Lots of flesh
Liquor, drugs , pubs ,discos
Contraceptive, condoms ,pills
Date rapes , abortions , miscarriages
This all is very animal like
Where is the love ?

Introspection

Its important
But its risky
As it pushes you to be alone
It takes you away from world
It kills materialism
It doesn’t permit you to enjoy
It debars you of tastes
It is a nectar
Which is bitter than poison
Few can do this
Rare can accomplish it
Its fatal .

करवा चौथ

वाह रे बीवी, तूँ  कमाल
एक दिन रख कर व्रत, सारा साल करे मियाँ को हलाल
बिंदी तेरी, तेरा सिंदूर
मियाँ को कर रखा तूने मजबूर
चहिए तूझे नया सूट, साड़ी
हीरे का हार, बड़ी गाड़ी
न मिले तो यही सावित्री बन जाए चण्डी
संसार में नहीं कोई तेरे से बड़ा पाखंडी
रात होते अगर न मिले तुझे मंहगा उपहार
भाड़ में गया फिर पति का सत्कार
करवा चौथ पर ही हो जाता है पति का चौथा
मंहगे उपहार पाना ही है बीवी का मकसद इकलौता
व्रत, पूजा, कथा, सब हैं बस दिखावा
इस बीवी को  बस चाहिए चड़ावा।